Pakistan: हिन्दू नाबालिग लड़की का गुमशाद अली ने किया अपहरण, रेप और मुस्लिम बनाने के बाद निकाह भी

VSK Telangana    07-Jul-2024
Total Views |

 
pak

 
पाकिस्तान में हिन्दू अल्पसंख्यकों पर अत्याचार थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। इस्लामिक कट्टरपंथी लगातार हिन्दू लड़कियों का अपहरण, रेप और इस्लामिक कन्वर्जन कर रहे हैं। ऐसे ही सिंध प्रान्त के संघर जिले से में इस्लामिक कट्टरपंथी गुमशाद अली ने 10 वर्षीय हिन्दू लड़की का अपहरण कर लिया। इसके उसके साथ रेप किया, उसके बाद जबरन उसका इस्लामिक कन्वर्जन करवा दिया। बाद में आऱोपी ने जबरन उसके साथ निकाह कर लिया।
क्या है पूरा मामला

इस्लामिक कन्वर्जन का ये मामला संघर जिले में स्थित गोठ भटियानी का है। यहीं पर हिन्दू मजदूर चन्नू कोहली का परिवार रहता है। 4 जुलाई, 2024 को इलाके के ही रहने वाले मुस्लिम जमींदार मोहम्मद इस्माइल के बेटे गुमशाद अली ने चन्नू कोहली के घर में जबरन घुसकर बंदूक की नोक पर उनकी बेटी जमना कोहली का अपहरण कर लिया। अपहरण के बाद वह उसे जमुना को मीरपुर गोठ ले गया। वहां पर उसने बच्ची के साथ रेप किया। इसके बाद एक स्थानीय मौलवी की मदद से उसका इस्लामिक कन्वर्जन करवा दिया गया।

बाद में आरोपियों ने गुमशाद अली के साथ ही पीड़िता का जबरन निकाह करवा दिया गया। न्यूज इंटरवेंशन की रिपोर्ट के मुताबिक, हिन्दू लड़की का अपहरण और इस्लामिक कन्वर्जन से करीब 10 दिन पहले ही एक स्थानीय नेता द्वारा धर्मांतरण और विवाह समारोह आयोजित किया गया था। इस मामले ने क्षेत्र में धार्मिक अल्पसंख्यकों की सुरक्षा और जबरन धर्मांतरण के मुद्दे को लेकर चिंताओं को बढ़ाने का काम किया है।

उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान के सिन्ध प्रान्त में हिन्दू अल्पसंख्यकों की एक बड़ी आबादी रहती है। यही कारण है कि इस्लामिक कट्टरपंथी सिंध में लगातार इस्लामिक कन्वर्जन कर रहे हैं। हालात ये हो गए हैं कि पाकिस्तान में हिन्दू अल्पसंख्यकों की संख्या तेजी से घट रही है। कई अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार संगठन चेतावनी दे चुके हैं कि अगर ऐसे ही हालात रहे तो एक दिन ऐसा होगा कि देश से अल्पसंख्यकों का पूरी तरह से सफाया हो जाएगा।

एक माह के अंदर हुए कई इस्लामिक कन्वर्जन

गौरतलब है कि पाकिस्तान का सिंध प्रान्त इस्लामिक कट्टरपंथियों के निशाने पर है। यहां बीते एक माह के अंदर ही कई अल्पसंख्यक लड़कियों का जबरन इस्लामिक कन्वर्जन किया जा चुका है। इसी तरह से पिछले महीने 12 जून को पाकिस्तान के फैसलाबाद में इस्लामिक कट्टरपंथियों ने लाइबा नाम की एक 10 साल की ईसाई बच्ची का अपहरण कर लिया। उसके साथ कई दिनों तक रेप किया गया। बाद में पीड़िता से जबरन इस्लाम कबूल करवाने के बाद एक मुस्लिम के साथ उसका निकाह करवा दिया गया।

इसी तरह से 8 जून, 2024 को नूरी नाम की हिन्दू लड़की का उसके घर से अपहरण कर लिया गया। कट्टरपंथियों ने उसके साथ बलात्कार किया और फिर इस्लामिक कन्वर्जन के बाद उसके मुस्लिम अपहऱणकर्ता के साथ निकाह करवा दिया।